नगर निगम के कर्मचारी ने की आत्महत्या, घर जाने की नहीं मिल रही थी छुट्टी

केसरी फिल्म की प्रमोशन के लिए चंडीगढ़ पहुंचे अक्षय कुमार, कहा पगड़ी पहन कर होता है गर्व
18/03/2019
पढ़िए कब है होलिका दहन का शुभ मुहुर्त
18/03/2019

नगर निगम के कर्मचारी ने की आत्महत्या, घर जाने की नहीं मिल रही थी छुट्टी


चंडीगढ़। सेक्टर-19 बी स्थित मकान नंबर 1163 में घर जाने के लिए छुट्टियां न मिलने से परेशान नगर निगम के कर्मचारी ने रविवार की देर रात फंदा लगा अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। मृतक की पहचान उत्तराखंड निवासी 49 वर्षीय जसपाल सिंह के रूप में हुई है। परिजनों ने देखते ही घटना की जानकारी पुलिस कंट्रोल रूम को दी। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतक के शरीर को नीचे उतार सेक्टर-16 जीएमएसएच में दाखिल कराया जहां पर मौजूद डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने शव को शवगृह में रखवा दिया है। जहां पर पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया जाएगा। वहीं पुलिस को मौके से सुसाइड नोट भी बरामद हुई है। जिसमें मृतक ने लिखा है कि उसके ऊपर बैठे सीनियर अधिकारी मानसिक रूप से उसे तंग करते थे। हालांकि पुलिस मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच करना शुरू कर दी है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार मृतक के परिजनों ने बातया कि वह पिछले काफी दिनों से परेशान चल रहा था। जो रोजाना की तरह रविवार की रात तरह खाना खां कर सो रहे थे। जब सोमवार की सुबह सात बजे के करीब उनका बेटा गौकुल उठा तो देखा उसके पिता बाहर बेड़े में एक एंगल से लटके हुए थे। ध्यान रहे कि जसपाल सिंह नगर निगम के एनफोर्समेंट विभाग में काम करता था। जो सुसाइड नोट में लिखा है कि उसके ऊपर बैठे सीनियर अधिकारी मानसिक रूप से उसे तंग करते थे। वहीं मृतक सुसाइड नोट में दो अफसरों के नाम भी लिखे हैं। सुसाइड नोट में एडिशनल कमिश्नर तिलक राज और इंस्पेक्टर वेद प्रकाश का नाम लिखा है। मृतक के परिवार वालों ने बताया कि अफसर घर जाने के लिए कभी छुट्टियां नहीं देते थे, जिससे तंग आकर वह यह कदम उठाया है। वहीं मृतक के परिजनों का आरोप है कि दोनों अधिकारियों को सख्त से सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *