खिलाडियों के लिए वरदान से कम नहीं हैं डॉ सतबीर सिंह

jaish-e-mohammed-ntn
पाकिस्तान नहीं, टेररिस्तान कहिए; पड़ोसी देश की धरती से ऑपरेट होते हैं ये खूंखार आतंकी संगठन
15/02/2019
Bdesh_air-ntn
बांग्लादेश: विमान हाइजैक की कोशिश नाकाम, इमरजैंसी लैंडिंग के बाद बंदूकधारी गिरफ्तार
24/02/2019

खिलाडियों के लिए वरदान से कम नहीं हैं डॉ सतबीर सिंह

dr-satbir-ntn

चंडीगढ़़, 22 फरवरी, 2019: मोहाली स्थित कोस्मो होस्पिटल के डॉक्टर सतबीर सिंह ट्राईसिटी के एकमात्र स्पोर्ट्स मेडिसन कंसल्टेंट हैं। उन्होंने पुणे स्थित एएफएमसी से एमबीबीएस करने और सेना में पांच वर्ष बीताने के बाद पटियाला स्थित नैश्नल इंस्टीच्यूट ऑफ स्पोर्ट्स से स्पोर्ट्स मेडिसन में स्पेश्लाईजेशन किया। चंडीगढ़ स्थित चंडीगढ़ लॉन टेनिस ऐकेडमी से शुरुआत करने के बाद उन्होंनें नैश्नल और इंटरनैश्नल ख्याति के लिये एक लंबा सफर तय किया है। वर्ष 2010 में उन्होंने मोहाली स्थित पंजाब क्रिकेट ऐसोसियेशन में प्रतिष्ठित बीसीसीआई एकेडमी ज्वाईंन की और बीसीसीआई के अंर्तगत उत्तरी भारत के नौ राज्यों के ट्रेनर्स की ट्रेनिंग में जुट गये । पंजाब की जूनियर और सीनियर टीमें भी उन्हीं की देखरेख में थी जबकि सीनियर टीम की रणजी ट्राफी के लिये वे दो सत्रों तक युवा क्रिकेटर्स को ट्रेनिंग देते रहे। उन्होंनें बैंगलोर में बीसीसीआई की नेश्नल क्रिकेट ऐकेडमी में कई कांफ्रेसों और संगोष्ठियों में भी भाग लिया। 

बीसीसीआई में रहने के दौरान हॉकी इंडिया ने उनके साथ संपर्क किया जिसके बाद वे एफआईएच के अधीन महिलाओं की भारतीय हॉकी टीम के साथ जुडे। इस दौरान टीम ने सिल्वर मैडल जीता। इसके बाद महिला हॉकी टीम ने आयरलैंड का दौरा किया । डॉक्टर सतबीर का हॉकी से नाता गत 2008 से है जब वे चंडीगढ़ में वर्ष 2008 में आयोजित प्रीमियर हॉकी लीग के दौरान टूर्नामेंट डायरेक्टर थे।  इस दौरान उन्होंने सभी नैश्नल और इंटरनैश्नल खिलाड़ियों की मेजबानी की थी। 

डॉक्टर सतबीर मैन्यूअल थैरेपी, ड्राई नीडलिंग, टेपिंग, इंट्राआर्टिकूलर इंजैक्शन, पॉप कास्ट, एक्सरसाईज रेसक्रिप्शन और रिहबिलैशन, इलेक्टिथैरेपी, फिजियोथैरेपी, फिटनैस ट्रेनिंग में एक पूर्ण रुप से ट्रेंड और सर्टिफाईड प्रोफेशनल हैं। 

देश के विभिन्न स्पैश्लाईज्ड सेंटरों में डाक्टर सतबीर ने तीन सालों तक नी और सोल्डर यानि घुटने और कंधे की आर्थोस्कोपी की टेनिंग ली। अब वे सभी प्रकार की नी सर्जरियां जैसे एसीएलआर और एसीएल रिपेयर, मेनीसकस रिपयेर, पीसीएल रिकंस्टक्शन आदि को अंजाम दे देते हैं। कंधे की सर्जरियों में वे एक्रोमियोप्लास्टी, लातरजेट, रोटाटेर कफ रिपेयर, बैनकार्ट रिपेयर, फ्रोजन सोल्डर रिलीज, बाईसेप्स के लिये टिनोडेसिस एंड टेनोटोमी आदि को अंजाम देते हैं। 

उनकी विशेष रुचि और ट्रेनिंग ओर्थोबॉयोलोजिक्स में हैं जोकि कई प्रकार की कार्टिलेज इंजरियों और गठिया यानि आरथिराईटिस का अपने ही बॉडी सेल्स जैसे पीआरपी, प्लेटलेट्स रिच प्लास्मा, बीएमएसी, बोन मैरो एस्पीरेट कनंस्टेट, मैसेनचिमल फेट्स सेल्स आदि द्वारा उपचार करने में सहायक है। चोटिल स्थानों या ज्वाईंट्स पर इंजेक्ट करने के बाद यह टिश्यू की रिपयेर में मदद करते हैं। उन्होंनें अब तक नी आर्थीराईटिस मरीजों को 2500 से भी अधिक हायालोरनिक ऐसिड इंजैक्शन दिये हैं जिससे की बेहतर परिणाम प्राप्त हुये हैं। इसी तकनीक से उपचार के लिये पड़ोसी राज्यों के मरीज भी उनके पास आते हैं। उनका मोटो है ‘ओरिजनल इज ओरिजनल एंड शुड बी रिटेंड’ ।

अधिकतर मरीज और खिलाड़ी डिस्क और पीआईवीडी की समास्या से पीड़ित होते हैं और कोई निरधारित उपचार के आभाव के चलते इन रोगियो की गिनती की संख्या बढ़ती जा रही है। डॉक्टर सतबीर इंडोस्कोपिक स्पाईन सर्जरी विशेषकर डिस्क में दक्षता प्राप्त हैं। यह उच्च कोटि की सूक्ष्म सर्जरी है जिसमें मरीज का ईलाज एनिसथिसिया के बीच किया जाता है और मरीज का उसी शाम को डिस्चार्ज कर दिया जाता है। परिणाम टेबल से ही प्राप्त किये जा सकते हैं। 

वर्तमान मे वह सभी प्रकार के खिलाडियों को स्पोर्ट्स ट्रीटमेंट देते हैं जिसमें एयर फोर्स सेक्टर 42 हॉकी स्टेडियम, सीएलटीए, सर्कल कब्बडी, वेट लिफ्टर्स, बॉडी बिल्डर्स, सेक्टर 7 स्पोर्ट्स कॉम्पलैक्स, मैराथन रनर्स संबंधी ऐथलीट्स शामिल हैं । उनका स्पैश्लाईजैशन रनिंग इंजरी है और हाल ही में उन्होंनें कॉम्पलैक्स नी इंजरी में मास्टर्स किया है। 

उनका प्रयास रहता है कि सभी खिलाड़ियों की चोटों का आरम्भिक दौर में उपचार किया जा सके । मोटर लर्निंग और मोटर स्क्लि ट्रेनिंग के अतिरिक्त उनका फोकस इंजरी प्रीवैंशन, रिहैबिलेशन, फ्लैक्सिबिलिटी और स्ट्रैंथ ट्रेनिंग में रहता है जिससे की स्पोर्ट्स संबंधी चोटों को प्रभावी रुप से ठीक किया जा सके ताकि खिलाड़ी भी अपने कैरियर में अधिकतम उपलब्धि हासिल कर सके और विश्व भर में भारत खेल राष्ट्र के रुप में अपनी पहचान बनायें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *