स्टार्टअप एवं पॉलिटिशियन्स को मिलेगी इमेज बिल्डिंग की मुफ्त सलाह

ताज चंडीगढ़ में होगा नये साल का जश्न
26/12/2018
पढ़िए मदन गुप्ता सपाटू के अनुसार कैसा रहेगा 2019 आप के लिए?
02/01/2019

स्टार्टअप एवं पॉलिटिशियन्स को मिलेगी इमेज बिल्डिंग की मुफ्त सलाह

पीआर कंपनी 24*7 अपने 19 साल पुरे होने पर देश भर के अनेकों छोटे-बड़े स्टार्टअप्स को उनकी ब्रांडिंग की फ्री सलाह देने का फैसला किया है। इसके साथ ही कंपनी, देश के विभिन्न पॉलिटिशियन्स को भी, उनकी इमेज बिल्डिंग की फ्री सलाह उपलब्ध कराने जा रही है। पीआर 24×7 की यह पहल, देश में तेजी से उभर रहे स्टार्टअप कल्चर को बढ़ावा देने एवं उनका पोर्टफोलियो बेहतर बनाने में उपयुक्त साबित होगी। साथ ही इसके जरिये पॉलिटिशियन्स को 2019 में होने वाले आम चुनावों से पहले जन-जन से जुड़ने का बेहतरीन अवसर भी प्राप्त होगा। कंपनी यह सेवा नए साल की शुरुआत से आगामी तीन महीनों तक के लिए उपलब्ध कराएगी।
पीआर 24×7 के फाउण्डर अतुल मलिकराम ने जानकारी देते हुए बताया कि, “आज भी देश में ज्यादातर लोग मानते हैं कि किसी प्रोडक्ट या कंपनी की इमेज बिल्डिंग के लिए पीआर (पब्लिक रिलेशन) एक महंगा सौदा हैं। जबकि असल में यदि आपका पीआर डिपार्टमेंट मजबूत है तो प्रोफेशनल फ्रंट पर आपको अधिक अवसर मिलने की संभावनाएं बढ़ जाती हैं। पब्लिक डीलिंग का सही तरीका ही आपकी बेहतर इमेज बनाने का काम करता है और बेशक हम इस काम में माहिर हैं। पीआर 24×7, नए साल की शुरुआत से 31 मार्च 2019 तक देश के सभी स्टार्टअप्स और पॉलिटिशियन्स को उनकी ब्रांडिंग व इमेज बिल्डिंग की फ्री सलाह देने जा रहा हैं। ऐसा शायद पहली बार होगा जब किसी पब्लिक रिलेशन कंपनी ने ब्रांडिंग के लिए फ्री एडवाइस देने की घोषणा की है।“
अतुल ने आगे कहा, “किसी भी नए स्टार्टअप के लिए उसके ब्रांड की जानकारी मार्केट व ग्राहकों के बीच होना बेहद जरूरी है ताकि लोगों को उनके प्रोडक्ट और सर्विसेज के बारे में पता लग सके। ये समझना महत्वपूर्ण है कि किसी भी ब्रांड को मार्केट तक पहुंचाने और ब्रांड के प्रति ग्राहकों को आकर्षित करने में पीआर का एक अहम रोल होता है। इसी तरह यह पॉलिटिकल पार्टीज़ के पॉलिटिशियन्स के लिए भी काम करता है। कोई भी पॉलिटिकल कैंपेन एक पीआर प्रोफेशनल की सलाह के साथ ही आगे बढ़ता है। 2014 में मोदी सरकार की एकतरफ़ा जीत को बेहतरीन पीआर के एक सर्वश्रेष्ठ उदाहरण के रूप में देखा जा सकता है। भारत सरकार के स्वच्छ भारत या बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ जैसे अभियानों की सफलता के पीछे भी पीआर प्लानिंग्स का ही फार्मूला लगा है। हम प्रिंट व डिजिटल पीआर के जरिये अपने क्लाइंट्स से जुड़ी हर खबर को ट्रैक करने का काम करते हैं। साथ ही उनके मार्केट कॉम्पिटिटर्स की हर मूवमेंट पर भी पैनी नजर बनाए रखते हैं।“

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *