पाकिस्तान नहीं, टेररिस्तान कहिए; पड़ोसी देश की धरती से ऑपरेट होते हैं ये खूंखार आतंकी संगठन

Pulwama-Terror-Attack-ntn
Pulwama Terror Attack: जिनकी शहादत से देश की आंखें हैं नम, सरकारी रिकॉर्ड में नहीं कहलाएंगे ‘शहीद’, तेजस्वी ने की यह मांग
15/02/2019
dr-satbir-ntn
खिलाडियों के लिए वरदान से कम नहीं हैं डॉ सतबीर सिंह
22/02/2019

पाकिस्तान नहीं, टेररिस्तान कहिए; पड़ोसी देश की धरती से ऑपरेट होते हैं ये खूंखार आतंकी संगठन

jaish-e-mohammed-ntn

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए फिदायीन हमले के बाद केंद्र सरकार पर एक बार फिर से पाकिस्तान स्थित आतंकी कैंपों के खिलाफ कार्रवाई करने का दबाव है। इस हमले में 44 सीआरपीएफ जवान शहीद हुए हैं। पुलवामा आतंकी हमले को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान को कड़ी चेतावनी दी है। प्रधानमंत्री ने कहा कि इस हमले की पड़ोसी मुल्क को बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी। उन्होंने कहा कि आतंकी बड़ी गलती कर चुके हैं। हमने सुरक्षाबलों को खुली छूट दे दी है। पीएम ने कहा कि इस हमले का देश एकजुट होकर मुकाबला कर रहा है। देश एक साथ है। देश का एक ही स्वर है, क्योंकि लड़ाई हम जीतने के लिए लड़ रहे हैं।
इससे पहले 3 नवंबर 2017 को अमेरिका ने पाकिस्तान को भारत और अफगानिस्तान में सक्रिय लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मुहम्मद और हरकत-उल-मुजाहिदीन समेत 20 आतंकी संगठनों के नामों की सूची दी थी। अमेरिकी सूची में पाकिस्तान के तीन तरह के आतंकी संगठनों की सूची है। इनमें से कई ऐसे हैं जो कश्मीर में हमले करते हैं। दूसरे, अफगानिस्तान को निशाना बनाने वाले हैं और तीसरे वह आतंकी संगठन हैं जो पाकिस्तान के अंदर ही हमले करते हैं।यह भी पढ़ें
अमेरिका का मानना है कि यह सभी आतंकी संगठन पाकिस्तान की सरजमीं से भारत और अफगानिस्तान को निशाना बना रहे हैं। खूंखार आतंकवादी संगठनों की इस सूची में अमेरिका ने हक्कानी नेटवर्क को सबसे ऊपर रखा है। अमेरिका का मानना है कि यह आतंकी संगठन उत्तर पश्चिमी पाकिस्तान के कबाइली इलाके में सक्रिय है। यह वहीं से अफगानिस्तान पर हमले करता है। कूटनीतिक सूत्रों के अनुसार खासतौर पर भारत को निशाना बनाने वाले पाकिस्तानी आतंकी संगठनों हरकत-उल-मुजाहिदीन, जैश-ए-मुहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा के भी नाम सूची में शामिल हैं। हरकत मुख्यत: कश्मीर को ही निशाना बनाता है।
अमेरिका का कहना है कि इस आतंकी संगठन का ताल्लुक ओसामा बिन लादेन और अलकायदा से रहा है। इसी तरह जैश-ए-मुहम्मद भी भारतीय क्षेत्र के कश्मीर को ही निशाने पर रखता है। पाकिस्तान में ये सभी संगठन लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद, हरकत उल-मुजाहिदीन, तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान और हक्कानी नेटवर्क प्रमुख रूप से नापाक हरकतों को अंजाम दे रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *