एक साथ लोकसभा और विधानसभा चुनाव हुए तो तीन राज्यों में लगेगा राष्ट्रपति शासन!

पाक जेल से रिहा होकर 36 साल बाद अपने घर लौटे गजानंद
13/08/2018
नहीं रहे छत्तीसगढ़ के राज्यपाल बलरामजी दास टंडन
14/08/2018

एक साथ लोकसभा और विधानसभा चुनाव हुए तो तीन राज्यों में लगेगा राष्ट्रपति शासन!

नई दिल्ली। अगले साल लोकसभा चुनाव होने हैं। देश के कुछ राज्यों में भी एक साल के अंदर चुनाव होने हैं। ऐसे में सरकार एक साथ लोकसभा और विधानसभा चुनाव करवा सकती है। जिन राज्यों में विधानसभा का कार्यकाल जनवरी में पूरा होगा वहां राष्ट्रपति शासन लग सकता है। वहीं, कुछ राज्यों में समय से पूर्व चुनाव हो सकते हैं। भाजपा के सूत्रों ने इस बात के संकेत दिए कि ऐसा कराने पर मंथन चल रहा है।भाजपा सूत्रों के अनुसारक ऐसी संभावनाएं तलाशी जा रही हैं, जिससे कुछ राज्यों में चुनाव टल सकें, जबकि कुछ राज्यों में समय से पहले कराए जा सकें, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि इन राज्यों में एक साथ चुनाव हो सकें। मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ विधानसभा का कार्यकाल अगले साल जनवरी में पूरा होगा। वहीं, हरियाणा में अगले साल अक्टूबर में कार्यकाल पूरा होना है। ऐसे में भाजपा शासित इन राज्यों की सरकारें कुछ समय के लिए राष्ट्रपति शासन लगाने की सिफारिश कर सकती हैं ताकि लोकसभा चुनाव के साथ यहां विधानसभा चुनाव कराएं जा सकें।
सूत्रों का कहना है कि जिन राज्यों में चुनाव समय से पहले कराए जा सकते हैं उनमें झारखंड, हरियाणा और महाराष्ट्र शामिल हैं। इन तीनों राज्य में भाजपा का शासन है और यहां भी अगले साल चुनाव होने हैं। वहीं आंध्र प्रदेश, ओडिशा और तेलंगाना में लोकसभा चुनाव के साथ विधानसभा चुनाव कराए जा सकते हैं। भाजपा का मानना है कि लोकसभा चुनाव के साथ ज्यादा से ज्यादा राज्यों में विधानसभा चुनाव उसके पक्ष में सकारात्मक नतीजे देने वाले होंगे।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी लोकसभा और राज्यों में एक साथ चुनाव पर कई बार जोर दे चुके हैं। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने भी सोमवार को विध आयोग को लिखा कि उनकी पार्टी एक साथ चुनाव के पक्ष में है। शाह का कहना है कि इससे चुनाव में होने वाले करोड़ों रुपये का खर्चा कम होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *